शनिवार, 20 दिसंबर 2014

मुश्किल


खामोश रह के सब बताते हो ।
दर्द सहते रहते हो या सताते हो ।
मुश्किल में तुम भी हो मैं भी ।
देखना है डुबोते हो या तराते हो ।
-----शिवराज---------
एक टिप्पणी भेजें