गुरुवार, 9 अक्तूबर 2014

प्यार

प्यार एक बेरहम खेल है
जिसमे
Pyar ek bereham khel hai
jisme
जिंदगी होती है दाव् पर
Jindgi hoti hai daav par
दो साथी तूफानों में
Do saathi toofano mein
बैठे होते हैं एक नाव पर
Baithe hote hain ek naav par
थपेड़ों को सहते हुए
Thapedo ko sehte hue
पार जाना होता है
Paar jaana hota hai
अपने को, साथी को
Apne ko, saathi ko
और
Aur
जिन्दगी की नाव को
Jindgi ki naav ko
गम के तूफानों से
Gum ke toofano se
बचाना होता है
bachana hota hai

*****************
शिवराज /Shivraj
एक टिप्पणी भेजें