शुक्रवार, 19 सितंबर 2014

बातें / Baaten

क्या बतलाऊँ मेरी बातें 
वही पुरानी मेरी कहानी
मेरी छोड़ो तुम बतलाओ 
कैसे बीती रात सुहानी 
****************
सपने देखे अपने देखे 
या परियों की कोई कहानी 
क्या वो भी आया था मिलने 
जिसके लिए तुम हो दीवानी
********************
कह दो उसको  जो कहना है 
हया वैसे अपना गहना है 
उसको दिल का हाल बताओ
समय चुकी पुनि का पछतानि 
*********************
Kya batlaaoon meri baate
Vahi purani meri kahani
Chodo meri tum batlao 
Kaise beeti raat suhani

Sapne dekhe apne dekhe 
Ya pario ki koi kahani 
Kya vo bhi aaya milne 
Jiske lie tum ho deewani

Keh do us se jo kehna hai
Haya vaise to gehna hai
Usko dil ka hall batlaoo
Samay chooki pooni ka pachtani 
-------–---------------------------------------

एक टिप्पणी भेजें